एलियन की सच्चाई क्या है?क्या एलियन सच में होते हैं?जानिए एलियन की आश्चर्य चकित सच्चाई

एलियन की सच्चाई

 

एलियंस असली हैं? एलियंस क्या हैं? एलियन की सच्चाई क्या है? वे असली हैं या नहीं? तो वे दोस्त हैं या दुश्मन?

सवाल कई हैं लेकिन जवाब किसी के पास नहीं. फिर भी यह दुनिया का सबसे बड़ा रहस्य है. एक रहस्य जो पूरी दुनिया की समस्या को हल करने का प्रयास करता है, वह वैज्ञानिक है, लेकिन हाथ अभी भी खाली हैं.

दुनिया के वैज्ञानिकों को एलियंस के मुद्दे पर विभाजित किया गया है और विभिन्न राय रखते हैं. जहां एक ओर कुछ वैज्ञानिक उन्हें ढूंढना चाहते हैं, वहीं दूसरी ओर कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा करना गलत होगा और पृथ्वी और पृथ्वी का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा.

सभी हॉलीवुड फिल्मों में, हमने देखा है कि जब एलियंस पृथ्वी पर आते हैं, तो किस तरह की तबाही होती है .

चलिए आज जानते हैं एलियंस के बारे में.

एलियन की सच्चाई:8 तथ्य जो इस बात का प्रमाण देते हैं कि एलियन असली हैं

एलियंस हमेशा पृथ्वी पर रहे हैं . Ancient Aliens नामक शो में, जो हिस्ट्री TV पर प्रसारित किया गया था येह दिखाया गया हैं की एलियंस हमेसा से पृथ्वी में थे. वे हमेशा पृथ्वी पर आते रहे हैं और मनुष्यों से संपर्क करते हैं. अपने दावे को मजबूत करने के लिए, उन्होंने हिंदू धर्म का उदाहरण दिया.

प्राचीन हिन्दू धर्म में ऐसे सब बातें किये गया हैं जो हमे यह सोचने में मजबूर करते हैं के है एलियंस सही में मौजूद हैं.

नहीं तोह अप्प सोचिये कैलाश मंदिर कैसे बनाया गया होगा उतने पुराने समय में जहा टेक्नोलॉजी इतनी उन्नत नहीं थी .रैशी मुनि जो उरने वाले रथ में सफर करते थे वह सब क्या गलत हैं?

हज़ारो साल से लोग जो बिस्वास करते हैं,क्या यश सब सिर्फ कल्पना हैं? रामायण में रावण का उरने वाले रथ,मेघनाद का आसमान से ऊपर से उरने वाले रथ से लड़ाई क्या यश सब फालतू के बातें हैं ?

यह सब लगभग 6000 साल पहले लिखा गया था. अप्प ज़रा सोचिये.

पृथ्वी पर एलियंस क्यों आए?
इन बातों का उत्तर उन पुराने पत्थरों पर लिखी गई लिपि में छिपा है, जो सुमेरियन सभ्यता के बारे में बताती हैं.

इस सिद्धांत के अनुसार, 12 वें ग्रह पर रहने वाले भगवान ने इंसान को बनाया. एक अन्य सिद्धांत के अनुसार, दुनिया के लगभग सभी पुराने धर्मों में उन जीवों के बारे में बताया गया है जो आधे इंसान और आधे जानवर थे.

ये लोग कौन थे और क्या उन्होंने एलियन बनाया था? क्या एलियन इंसानों पर कोई टेस्ट कर रहे हैं? जो लोग क्रूज जहाजों पर सवारी करते थे वे अक्सर अजीब संग्रहालयों को देखने का दावा करते थे लेकिन उनकी बातों को भ्रम माना जाता था.

क्या वे फिर लौटेंगे?

किंवदंतियों के अनुसार, प्राचीन मिस्र, माया सभ्यता, पेरू और चीन की प्राचीन सभ्यताओं को एलियंस के बारे में पता था.

यह तोह कोई दबे के साथ कह नहीं सकता के एलियन लौटेंगे आया नहीं पर हमे अक्साए ऐसे उफौ और उड़ान खटोले नज़र में एते हैं जिसका सही पुस्टि कोई कर नहीं पाता

तो क्या एलियन असली हैं?

निचे दिए गए यह सब घटना हमे यह सोचने में मजबूर कर देता हैं की है एलियंस असली है .

स्टोनहेंज का राज:

इंग्लैंड के विल्टशायर में, चट्टानों के समान स्टोनहेंज अबस्थित हैं .वैज्ञानिकों का अनुमान है कि इसे 3000 ईसा पूर्व में शुरू किया गया था.

ऐसी बिचित्र चीस अप्पको दुनिया ने कोई और दिहने को नहीं मिलेगा.

स्टोनहेंज का राज
स्टोनहेंज का राज

तोह ऐसे कौन बनाया?इसका मतलब क्या है? जाने-माने लेखक, एरिक वॉन डानिकन का कहना है कि बाहरी लोग, और पृथ्वी लोगों की सहायता से ही यह बनाना मुमकिन हुआ. क्यों की इतना उम्दा टेक्नोलॉजी तब पृथ्वी के लोगो के पास मौजूद ही नहीं थी.

नाज़ा लाइन्स का रहस्य:

क्या आप किसी भी समय Nazca लाइन्स के बारे में सुना हैं? पेरू, दक्षिण अमेरिका में नाज़का रेगिस्तान में कई योजनाएं पाई जाती हैं, जो पुरातत्वविदों का आकर्षण की बिसय है .

लेखक एरिक वॉन दानिके ने 1968 में अपनी पुस्तक ‘‘Philanthropies of God’में लिखा है कि नजका विभिन्न ग्रहों से उत्पन्न होने वाले aliens लोगों के लिए आने का स्थान था.वह नाज़ा लाइन्स को रनवे के तौर में उसे करते थे.

काफी रिसर्च की बाद वि नाज़ा लाइन्स की असलियत अभी किसी को वि ठीक तरह से पता नहीं? तोह अप्प इसे कहेंगे ? इत्तेफ़ाक़?

ईस्टर द्वीप की अजीब मूर्तियाँ :

पश्चिमी दक्षिण अमेरिका का ईस्टर द्वीप का मोई द्वीप सभी के लिए एक प्रश्न है. लेकिन कई चीजें हैं जिनके बारे में समझाना मुश्किल है. चिली द्वीप में स्थित ऐसी मानव मूर्तियां हैं जिनके सिर बहुत बड़े हैं. यहां तक कि आम आदमी के सिर भी इस तरह के नहीं हैं . हर मूर्ति का सिर इतना बड़ा करना इतने पुराने समय मैं बना पाना कोई एलियंस के मदत बिना नामुमकिन हैं .

ईस्टर द्वीप की अजीब मूर्तियाँ
ईस्टर द्वीप की अजीब मूर्तियाँ

कहा जाता है कि रप्पा नुई सभ्यता के लोग मोई के निवासी थे.उस समय की महान हस्तियों के सम्मान में ये पत्थर लगाए गए थे.

Pumapunku भी एक सवाल है:

दक्षिण अमेरिका में बोलिविया के पास पुमपुंकू नामक एक जगह है, जहा बड़े पत्थरों की एक श्रृंखला है जो एक रहस्यमय और दिलचस्प तरीके से बनाई गई है.

इनमें से अधिकांश पत्थर अंग्रेजी के एच और यू आकार में डिजाइन किए गए हैं. इसके हर पत्थर को बड़े ही साफ-सुथरे तरीके से काटा गया है. ऐसा लगता है जैसे हर डिज़ाइन और कट का कोई न कोई महत्व हैं . प्रत्येक पत्थर का वजन 800 टन है.

ऐसा कहा जाता है कि पुमपुनकु के लोग एलियंस को अपना भगवान मानते थे. एलियंस कभी पुमपुंकू आए थे, उन्होंने उनसे यह जगह बनाने की बात की थी.

Crop Circle:

क्या आप जानते हैं कि संयुक्त अमेरिका में खेतों में और कई जगहों पर फसल के खेतों में अजीब तरह के डिजाइन पाए जाते हैं?इसे क्रॉप सर्किल बोलते हैं .

कई परिवारों ने दावा किया है कि जब वे सुबह उठे और अपने खेतों में आए, तो उन्हें फसलों के बजाय खेत में ऐसे पैटर्न मिले.यश कैसे बना,कौन इसे बनाया इसका कोई सीधा जबाब नहीं हैं. ऐसा कहा जाता है कि Crop Circle के पीछे एलियंस का हाथ है.

बायड बुशमैन की कहानी:

Area 51 वैज्ञानिक बॉयड बुशमैन उन लोगों में से एक थे जिन्होंने यूएफओ का अध्ययन किया और किसी और की तुलना में एलियंस के बारे मैं अधिक जानते हैं.

2014 में अपनी मृत्यु से पहले, उन्होंने Mark Q. Patterson के साथ एक इंटरव्यू मैं कुछ ज़बरदस्त खुलासा किया था जिसे जानके सारा दुनिये हैरान हो गयी. उन्होने एलियंस के साथ उनके असाधारण मुठभेड़ के बारे में बताया था .

एलियन कहां रहते हैं?

उनके दावों के अनुसार, ये एलियंस मुख्य रूप से पृथ्वी से 68,000 प्रकाश वर्ष दूर क्विंटुमिनिया के थे.

इस गेलेक्टिक दूरी को पर करने में केवल 45 मिनट का समय लगता है .

हाँ, वे प्रकाश से भी तेज यात्रा कर सकते हैं!

क्या यह गलत बयान है?

कुछ भी तो नहीं!

यह तक उनके यह वि कहना था की एलियंस टेक्नोलॉजी की एक्सपेरिमेंट के समय १९ लोग अपने जान गबै थी.यह सच सर्कार ने सबसे चुपके राखी.

The Wow Signal!

जेरी एहमन ने वर्ष 1977 में ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के बिग ईयर रेडियो टेलीस्कोप का उपयोग करके एक अजीब रेडियो सिग्नल का अबिस्कर किया जिसे वाओ सिग्नल बोलते हैं.
यह रेडियो सिग्नल सितारों के समूह से आया था जिसे ची सग्रेटरी कहा जाता है.

यह एक 72-सेकंड लंबा रेडियो signal था जिसे अभी तक सबसे ज़ोरदार और बिचित्र रेडियो सिग्नल मन जाता हैं.

अंतिम शब्द: मुझे उम्मीद है कि आपको उपरोक्त पोस्ट एलियन की सच्चाई,एलियंस असली हैं? एलियन क्या हैं? पसंद आई होगी अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो तो कृपया पोस्ट को शेयर और कमेंट करना न भूलें.

Soumik Ghosh

About Soumik Ghosh

सौमिक घोष[Soumik Ghosh] हिंदी खबरि का एडमिन हैं. SEO और इंटरनेट मार्केटिंग में लगभग 10+ इयर्स का एक्सपेरिंस है उनको. वह मैनली टेक्नोलॉजी और डिजिटल मार्केटिंग के ऊपर लिखते है पर हिंदी में उनको बहुत दिलचस्पी होने के कारन वह हिंदी में वि ब्लॉग लिखते है. SEO और इंटरनेट मार्केटिंग को चोरके उन्हें गण सुन्ना और ऑनलाइन वीडियो देखना बहुत पसंद है. वह अंरेज़ी में वि और एक ब्लॉग टेककीबीएस. कॉम [Tekkibytes.com] का ओनर है जहा वह टेक्नोलॉजी और SEO की बारे में अंरेज़ी में वि लिखते हैं.

View all posts by Soumik Ghosh →

2 Comments on “एलियन की सच्चाई क्या है?क्या एलियन सच में होते हैं?जानिए एलियन की आश्चर्य चकित सच्चाई”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *